दरभंगा

बिहार में अपराधी मस्त, सुशासन पस्त: नजरे आलम


गोलीबारी के बाद सुशासन बाबू की पुलिस मनाती है जश्न: बेदारी कारवां

दरभंगा-आज दरभंगा में भले ही दो पक्षों के बीच गोलीबारी हुई है लेकिन घटना स्थल पर दरभंगा सदर डीएसपी के हंसने वाली इस फोटो से अंदाजा लगाया जा सकता है कि दरभंगा पुलिस प्रशासन किस तरह गोलीबारी मामले को गंभीरता से लेती है और सुशासन बाबू के दावे की पुलिस वाले कैसे धज्जियां उड़ाते हैं। आए दिन अपराधियों के तांडव से आम नागरिक अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। अपराधी किसी को भी गोलियों से भून दे दरभंगा पुलिस उसे हंसी-मजाक में ही लेती है। दरभंगा पुलिस की हरकत से आम नागरिक में काफी बेचैनी पाई जा रही है। दरभंगा सदर डीएसपी की इस फोटो पर अब लोग खुलेआम यह कहने लगे हैं कि कब किस की हत्या होगी अगला निशाना कोन होगा इसकी जानकारी लगता है दरभंगा पुलिस को पहले से ही रहती है। इसलिए तो किसी को भी अपराधी गोली मार कर जान ले रहा होता है और डीएसपी काफिले के साथ घटना स्थल पर गंभीरता से एक्शन लेने की जगह जश्न मनाने के अंदाज में पहूंचते हैं। जिस प्रकार से बिहार में अपराधियों ने तांडव मचा रखा है और हत्या की सरकारी दुकानें चला रहा है उससे तो यह साफ हो गया कि बिहार में अब कहीं सुशासन नाम की कोई चीज नहीं बची है। ऐसा लगने लगा है कि पुलिस की भेस में कुछ आतंकी भेड़िए बिहार में अपराधियों को संरक्षण देकर बिहार को देश का नम्बर वन अपराध का सेंटर प्वाइंट बना दिया है और इस सेंटर का मुखिया खुद बिहार के फर्जी सुशासन बाबू नीतीश कुमार बने बैठे हैं। अगर नीतीश कुमार भाजपा के दबाव में बिहार को अपराधी राज्य के बदनुमा दाग से बचाना चाहते हैं और बिहार में आम लोगों को सुरक्षित देखना चाहते हैं तो कुर्सी को लात मारें और बिहार में कानून का राज कायम करें साथ ही अपराधियों को संरक्षण देने वाले पुलिस वाले पर कानूनी शिकंजा कसें नहीं तो आने वाले दिनों में बिहार की जनता जिसके पास हमेशा अच्छा विकल्प रहा है उसे अपनाने में देर नहीं करेंगे। उक्त बातें ऑल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवां के राष्ट्रीय अध्यक्ष नजरे आलम ने मिडिया से बातें करते हुए कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *