छपरा

आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डेन हेल्थ कार्ड बनाने के लिए पंचायतस्तर पर लगेगा विशेष कैंप


• एक पंचायत में लगातार तीनों दिनों लगेगा कैंप
• नि:शुल्क निर्गत किया जायेगा गोल्डेन हेल्थ कार्ड
• सीएस ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को दिया निर्देश
छपरा। जिले में आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना के तहत गोल्डेन हेल्थ कार्ड बनाने के लिए पंचायतस्तर पर विशेष कैंप लगाया जायेगा। इसको लेकर सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश जारी किया है। जिसमें कहा गया है जिले के सभी पंचायतों में कैंप लगाकर गोल्डेन हेल्थ कार्ड बनाया जायेगा। इसके लिए प्रखंड विकास पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर शिविर का माइक्रो प्लान तैयार करें। सभी पंचायतों चरणबद्ध तरीके से विशेष कैंप का आयोजन किया जायेगा। प्रत्येक पंचायत में लगातार तीनों दिनों तक कैंप लगेगा। जिसमें पंचायत के सभी लाभार्थियों का गोल्डेन हेल्थ कार्ड बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

नि:शुल्क बनेगा गोल्डेन हेल्थ कार्ड:
आयुष्मान भारत योजना के तहत लगने वाले इस विशेष कैंप के दौरान गोल्डेन हेल्थ कार्ड बनाने के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा। इस दौरान नि:शुल्क गोल्डेन हेल्थ कार्ड निर्गत किया जायेगा।
माईकिंग से होगा प्रचार-प्रसार:
सिविल सर्जन ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों का निर्देश दिया है कि पंचायतों में विशेष कैंप लगाने से पहले जागरूकता अभियान चलाया जाये। माईकिंग से इसका प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित करेंगे। ताकि विशेष कैंप के बारे में अधिक-से-अधिक लोगों को जानकारी मिल सके और वे इस कैंप में शामिल होकर अपना गोल्डेन हेल्थ कार्ड बनवा सके। इसके लिए ऑटो रिक्सा पर ऑडियो के माध्यम से प्रचार-प्रसार कराया जाये।

बीडीओ से मांगा माइक्रो प्लान:
जारी पत्र में सिविल सर्जन ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि कैंप लगाने से पहले इसका माइक्रो प्लान तैयार किया जाये। इसके लिए प्रखंड विकास पदाधिकारी के साथ समन्वय स्थापित कर माईक्रो प्लान तैयार करें। जिसमें कैंप कहां और कब लगेगा। इस कैंप में कौन-कौन कार्यपालक सहायक, बीएमएनई या फिर आयुष्मान मित्र की प्रतिनियुक्ति की जायेगी। इसका निर्धारित फार्मेट में माइक्रो प्लान तैयार कर 8 नंवबर तक हर हाल में जिला मुख्यालय को भेजना सुनिश्चित करें।
गोल्डेन कार्ड बनवाने के लिए लाभुकों को चाहिए ये कागजात :गोल्डेन कार्ड बनाने के लिए बीपीएल राशन कार्ड एवं प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना का पत्र जरूरी है। इसके बिना गोल्डन कार्ड यानी आयुष्मान भारत कार्ड नहीं बन सकता है। बीपीएल कार्ड धारक प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना का पत्र ब्लॉक में कार्यरत आशा कार्यकर्ता से आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

इन कागजातों को भी लगाना जरूरी: इन दोनों कागजातों के अलावा लाभुकों को आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, बैंक पासबुक में से कोई एक दस्तावेज लगाना अनिवार्य है। तभी लोगों का गोल्डन कार्ड बनाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *